Complete Your MBA @ Just Rs.32000/-

Breaking News

Tally में Journal Entry कब क्यों और कैसे करते हैं

Tally में Journal Entry कब क्यों और कैसे करते हैं 

क्या हैं Journal Entry
Journal Entry सामान्यत टैली में सबसे कठिन एंट्री होती हैं इसमें वो सभी एंट्री होती हैं जो कई नियमों के कारण Purchase , Receipt ,Sale और Payment में नहीं हो सकती हैं

कब होती हैं Journal Entry
टैली में जब कभी किसी भी वाउचर में entry नहीं होती हैं तो उसकी एंट्री जर्नल में करते हैं

क्यों होती हैं Journal में Entry
जैसे किसी कंपनी ने कंपनी के काम के लिए एक उधार प्रिंटर ख़रीदा तो ख़रीदा हैं इसका मतलब purchase हुआ हैं तो एंट्री purchase में होगी लेकिन ऐसा नहीं हैं क्योकि कंपनी ने वो ख़रीदा हैं कंपनी के काम के लिए बेचने के लिए नहीं इसलिए इसकी एंट्री Journal में होगी कैसे आइये जानते हैं
कैसे होती हैं Journal Entry

यहाँ पर में प्रिंटर का Ledger Office Expenses के नाम से बना लेता हूँ

>>>अब आपको यह तो पता ही होगा की Dr का मतलब नामे और Cr का मतलब जमा होता हैं<<<



यहाँ पर में जिस दुकान यहाँ केयर से प्रिंटर खरीदता हूँ उसका भी लेजर बना लेता हूँ ! और उसका नाम रखता हूँ Ram Printer Company , अब मेने प्रिंटर ख़रीदा हैं तो मेरा खर्चा हुआ हैं तो यह खर्चा में ऑफिस एक्सपेंस के नामे डालूंगा तो office Expense Debit (Dr)हो गया और जिस कंपनी से अर्थात Ram printer Company से प्रिंटर लिया हैं उसको क्रेडिट कर देंगे क्योकि उसके जमा हैं यह सभी चित्र में देखे

Full Entry
   देखे यह वीडियो

5 comments:

  1. nice post keep sharing... http://www.sabkuchgyan.com/top-10-tourist-place-of-india-in-hindi/

    ReplyDelete
  2. Its very helpful ...thanx alot ...
    Do u have any whatsapp no..

    ReplyDelete
  3. journal entry ekbaar me hi samjha diya aapne, aur post daliye bhai saab

    ReplyDelete

Please Type Your Comment here